YouTube Shorts से भी होगी अब मोटी कमाई बस आपको भी करना पड़ेगा ये काम, इस दिन से शुरू हो रही YouTube Shorts मॉनेटाइजेशन की प्रक्रिया

दोस्तों अगर आप YouTube Shorts के कंटेंट क्रिएटर हैं तो आपके लिए खुशखबरी है कि YouTube Shorts मॉनेटाइज प्रोसेस 1 फरवरी 2023 से शुरू हो रही है और इसके लिए यूजर को बस शार्ट ऐड रेवेन्यू के टर्म और कंडीशन का फॉर्म भरना होगा और यूट्यूब पार्टनर को नए पार्टनर प्रोग्राम के टर्म को स्वीकार करना होगा।

YouTube Shorts का मॉनेटाइज प्रोसेस 1 फरवरी 2023 से शुरू

दुनिया की सबसे बड़ी वीडियो शेयरिंग प्लेटफॉर्म यूट्यूब (YouTube) जल्द ही शॉर्ट वीडियो के लिए मॉनेटाइजेशन की प्रोसेस शुरू करने वाला है। इसके लिए कंपनी इसी हफ्ते से एक नया पार्टनर प्रोग्राम और उसके लिए टर्म प्लान को शुरू करने वाली है। ऐसा कंपनी शॉर्ट वीडियो प्लेटफॉर्म टिकटॉक (TikTok) की तर्ज पर यूट्यूब भी मॉनेटाइजेशन की प्रोसेस शुरू कर रही है। यानी अब यूट्यूब शॉर्ट्स पर भी विज्ञापन लगाए जा सकेंगे और शॉर्ट्स से क्रिएटर्स भी पैसा कमा सकेंगे।

यूट्यूब शॉर्ट्स मॉनिटाइज की ये प्रोसेस 1 फरवरी 2023 से शुरू हो रही है और इसके लिए आपको यूट्यूब के शार्ट ऐड रेवेन्यू के टर्म और कंडीशन का फॉर्म भरना होगा और सभी यूट्यूब पार्टनर को नए पार्टनर प्रोग्राम के टर्म को स्वीकार करना होगा। यानी इस फॉर्म को भरे बिना आप यूट्यूब शॉर्ट्स से कमाई के लिए अयोग्य होंगे। और मॉनेटाइजेशन जारी रखने के लिए 10 जुलाई तक इस पर फॉर्म को भरना होगा।

ऐसे कर सकेंगे यूट्यूब शॉर्ट्स से कमाई

यूट्यूब नए शॉर्ट वीडियो के लिए मॉनेटाइजेशन की प्रोसेस को भी यूट्यूब वीडियो की तरह ही करने वाला है। यूट्यूब के अनुसार इसमें कमाई का प्रोसेस बिल्कुल यूट्यूब वीडियो की तरह रहेगा। कमाई का फॉर्मूला मुख्य रूप से तीन चीजों पर तय होगा जो कि सब्सक्राइबर्स की संख्या, वीडियो का वॉच टाइम और ब्रांड प्रमोशन। यानी इन तीन तरीके से यूट्यूब शॉर्ट्स में कमाई की जा सकती है।

ये है YouTube Shorts से कमाई की पात्रता

यूट्यूबर्स ने YouTube Shorts से कमाई करने के लिए कंपनी ने कुछ पात्रता और शेयरिंग परसेंटेज भी सेट किया है। यूट्यूबर्स को शॉर्ट वीडियो के मॉनेटाइजेशन के लिए कम से कम 1,000 सब्सक्राइबर्स की जरूरत होगी। साल भर में 4,000 घंटे का वॉच टाइम भी पूरा करना होगा। इसके साथ ही जिन यूट्यूबर्स के पिछले 3 महीने में 10 मिलियन या इससे ज्यादा व्यूज हैं, वे भी मॉनेटाइजेशन के लिए आवेदन कर सकते हैं।

इस तरह होती है YouTube में कमाई की शेयरिंग

यहाँ पर ध्यान देने की बात ये है कि यूट्यूब में पहले से हो एड शेयरिंग प्रक्रिया के तहत रेवेन्यू का 45 फीसदी क्रिएटर्स और 55 फीसदी हिस्सा यूट्यूब को जाएगा। वहीं यूट्यूब अपने शेयर से रेवेन्यू का 10 फीसदी हिस्सा शॉर्ट वीडियो में यूज होने वाले म्यूजिक क्रिएटर्स को देगा।

इन्हे भी देखें – अगर आपको भी Smartphone में Google Search करने की है आदत तो, अब इस साइट से जाकर पा सकते हैं अपने सवालों के जवाब

इन्हे भी देखें – UP वालों ठण्ड में भी मत चलाओ हीटर, गीजर नहीं तो लगेगा बिजली के बिल का झटका, सरकार 23 फीसदी तक बढ़ाने वाली है दाम, सबकी जेब पर पड़ेगा असर

इन्हे भी देखें – इस एक रूपये शेयर ने 5,100 फीसदी का रिटर्न देकर एक साल में बना दिया 52 लाख रुपये का ​मालिक, Penny Stock में निवेश

इन्हे भी देखें – रेहड़ी-पटरी वालों के लिए बड़ी खबर: 2023 में स्ट्रीट वेंडर्स को 3000 से 5000 लोन देगी सरकार, माइक्रो क्रेडिट फैसिलिटी, PM स्वनिधि योजना

इन्हे भी देखें – मारुति ईको कारों के साइलेंसर को चोरी कर लखपति बने चोरों को पुलिस ने धर दबोचा, जाने क्या है पूरा मामला

इन्हे भी देखें – Aadhaar Card खो जाने पर दुबारा से आधार कार्ड के नंबर और इनरोलमेंट आईडी मिनटों में ऐसे पायें, जाने इसका पूरा प्रोसेस

इन्हे भी देखें – इस म्यूचुअल फंड ने 10,000 रुपये के SIP को 69 लाख रुपये बना दिया, निवेशक ख़ुशी से फूले नहीं समा रहे

Leave a Comment