Auto Sweep Facility : बस करना होगा इतना सा काम और मिलेगा सेविंग्स अकाउंट पर मिलेगा FD जितना ब्याज

आजकल बैंक धड़ाधड़ सेविंग अकाउंट की ब्याज दर कम कर रहे हैं और एफडी पर ब्याज बढ़ा रहे हैं। इसलिए हर किसी के मन में ये सवाल आ सकता है कि काश मुझे FD Interest Rate से ब्याज अपने सेविंग अकाउंट पर मिलता तो मजा ही आ जाता। तो दोस्तों अगर आप भी यही सोचते थे तो ये आर्टिकल आपके लिए ही है इसमें हम आपको वो आसान से स्टेप बताने जा रहे हैं जिनको अप्लाई करने के बाद सच में आपके सेविंग अकाउंट पर FD जितना ब्याज मिलने लगेगा।

Benefits of Auto Sweep Facility: सभी बैंक करंट या सेविंग्स अकाउंट पर ग्राहकों को यह सुविधा देते हैं कि उनका करंट या सेविंग्स अकाउंट उनके FD से लिंक हो जाये। पर आपको इसे बैंक जाकर इनेबल भी कराना होता है. इससे होता ये है कि इसके जरिए सेविंग्स अकाउंट की सरप्लस राशि पर FD Interest Rate से ब्याज मिलता है. इस ऑटोमेटेड फीचर के जरिए आपका करंट या सेविंग्स अकाउंट FD से लिंक हो जाता है.

Savings Account Vs FD Interest: अकसर लोग अपनी जमा-पूंजी बैंक के सेविंग्स अकाउंट में रखते हैं। पर सेविंग अकाउंट की ब्याज दर कम होती है और हर तिमाही में रकम के हिसाब से ब्याज मिलता रहता है. लेकिन सभी बैंक एक ऐसी सुविधा भी देते हैं, जिससे आप ज्यादा ब्याज हासिल कर सकते हैं। हालाँकि इस सुविधा के बारे में बहुत कम लोग ही जानते हैं. इस सर्विस को कहते हैं Auto Sweep Facility. आइए इसके बारे में जानते हैं.

क्या है ये Auto Sweep Facility और कैसे करती है काम?

बैंक करंट या सेविंग्स अकाउंट पर ग्राहकों को यह सुविधा देते हैं. पर ये सुविधा डिफ़ॉल्ट नहीं होती मतलब ये सुविधा अपने आप आपके अकाउंट पर अप्लाई नहीं होती बल्कि आपको इसे बैंक जाकर आपको इनेबल कराना होता है।

आपके FD अकाउंट से लिंक हो जायेगा Savings Account

इसके जरिए सेविंग्स अकाउंट की आपकी लिमिट से ज्यादा राशि पर ज्यादा ब्याज मिलता है. इस ऑटोमेटेड फीचर के जरिए आपका करंट या सेविंग्स अकाउंट FD से लिंक हो जाता है. अगर सेविंग्स अकाउंट में सरप्लस राशि है तो वह एफडी अकाउंट में चली जाएगी. इसके लिए बैंक जाकर आपको एक लिमिट तय करनी होगी. इस सर्विस को इनेबल करते समय यह बताना होगा कि अकाउंट में कितनी राशि के बाद बाकी रकम एफडी अकाउंट में ट्रांसफर की जाए.

जब भी बैंक खाते में लिमिट से ज्यादा पैसा होगा, तो वह सरप्लस राशि एफडी खाते में चली जाएगी, जिस पर आपको FD जितना ब्याज मिलेगा। और अगर सेविंग्स अकाउंट में राशि लिमिट से नीचे आ जाती है तो एफडी खाते से उतनी रकम बैंक अकाउंट में आ जाएगी. इसको रिवर्स स्वीप कहा जाता है. इस सुविधा में बैंक खाते में आपकी ओर से तय की गई फंड की लिमिट मेंटेन होती रहती है और सरप्लस अमाउंट एफडी से ब्याज देता रहता है.

Auto Sweep Facility एक ऑटोमेटेड फीचर है

इस सुविधा से यह फायदा होता है कि आपको एक बार परमिशन देनी होती है. इसके बाद बैंक खाता खुद-ब-खुद बाकी चीजें संभालता रहता है. जो नॉर्मल एफडी अकाउंट होते हैं, उसमें अगर आपको सरप्लस राशि जमा करानी हो तो हर बार रिक्वेस्ट रेज़ करनी पड़ती है. जरूरी भी नहीं कि आप हर बार फंड जमा कर भी लें. इसलिए इस सुविधा के जरिए आपको लाभ मिलेगा.

SBI ये योजना Multiple Choice Deposit Scheme (MODS) के नाम से

भारत का सबसे बड़ा बैंक, भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई), स्वीप-इन एफडी सुविधा प्रदान करता है लेकिन एक अलग नाम के साथ। लोकप्रिय रूप से एसबीआई मल्टी ऑप्शन डिपॉजिट स्कीम के रूप में जाना जाता है, यह सुविधा ग्राहकों को अपने सावधि जमा को अपने बचत या चालू खाते से जोड़ने में मदद करती है।

Image Credit – GoodReturns

इन्हे भी देखें – इंडिगो एयरलाइन और कोयंबटूर एयरपोर्ट ने रचा इतिहास, समयबद्ध एयरलाइन और हवाई अड्डे की सूची में दिखाया जलवा

इन्हे भी देखें – एलआईसी की इस LIC New Jeevan Shanti स्कीम में लगायें बस इतने रूपये और हर महीने मिलेंगे 11 हजार से ज्यादा की रकम

इन्हे भी देखें – सावधान रहे ये मिमिकरी करने वाला AI टूल बस 3 सेकंड में कॉपी कर लेता है किसी की भी आवाज, ऑनलाइन स्कैम बढ़ने का खतरा

इन्हे भी देखें – कृषि विभाग के कर्मचारियों की रुक जाएगी सैलरी, अगर इस दिन तक नहीं दिया अपनी सारी संपत्ति का ब्यौरा

इन्हे भी देखें – बाप रे! बीड़ी-सिगरेट के खोखे का हर महीने क‍िराया 3.25 लाख रुपये, ये वैल्यू है Commercial Property की इस लोकेशन पर

इन्हे भी देखें – YouTube Shorts से भी होगी अब मोटी कमाई बस आपको भी करना पड़ेगा ये काम, इस दिन से शुरू हो रही YouTube Shorts मॉनेटाइजेशन की प्रक्रिया

इन्हे भी देखें – Drone Insurance : क्या Drone का भी गाड़ियों की तरह बीमा करना आवश्यक है ? क्या चीजें होती कवर में, बीमा करने वाली कौन सी कंपनी

Leave a Comment