सऊदी अरब ने दुनिया भर के मुसलमानों को Makkah-Madinah से रिझाने का बनाया ये बिज़नेस प्लान

Mecca Medina – सभी देश अपने बिज़नेस और टूरिज्म को लेकर तरह तरह के प्लान बनाते ही रहते हैं जिससे ज्यादा से ज्यादा लोग उनके यहाँ आये और उनका बिज़नेस बढ़े। इसी क्रम में सऊदी अरब ने क्या बिजनेस प्लान बनाया है इसके लिए हमारे आज के इस आर्टिकल को पढ़ें।

मुसलमानों या कहें कि दुनियाभर के मुसलमानों की नजर में मक्का और मदीना का ख़ास महत्व है उनके लिए ये दुनिया के सबसे पवित्र स्थल मक्का और मदीना हैं पर अब सऊदी अरब इन दोनों शहरों को एक नई पहचान देने जा रहा है. इस पहचान से जहां सऊदी अरब को अपने प्रोडक्ट पूरी दुनिया के मुसलमानों तक पहुंचाने में मदद मिलेगी. वहीं इससे उसका बिजनेस भी बढ़ने की पूरी उम्मीद है.

सऊदी अरब चाहता है कि मुसलमानों इस धार्मिक भावना का भुनाये जिससे उनके यहाँ आने वाले मुसलमान पर्यटकों की वृद्धि हो और उन्हें ज्यादा से ज्यादा लाभ हो। इसी क्रम में किंगडम ऑफ सऊदी अरब ने दुनिया के सबसे बड़े दो धार्मिक शहर मक्का और मदीना आने वाले पर्यटकों और हज यात्रियों को वहां से और अधिक जुड़ाव महसूस कराने के लिए ये फैसला किया है. सऊदी प्रेस एजेंसी के मुताबिक स्थानीय सरकार ने ‘Made in Makkah’ और ‘Made in Madinah’ जैसी दो आईडेंटिटी लॉन्च की हैं.

मक्का-मदीना का दुनिया में अलग दर्जा

हाल ही में मक्का के अमीर प्रिंस खालिद अल फैजल और मदीना के अमीर प्रिंस फैजल बिन सलमान ने ‘मेड इन मक्का’ और ‘मेड इन मदीना’ की शुरुआत की है. इससे होगा ये कि इस टैग पर सिर्फ उन्ही का अधिकार होगा और वो इनके सहारे ढेर सारे प्रोडक्ट लांच कर सकेंगे जिसकी शुरुआत उन्होंने मक्का मदीना के टूर पैकेज से कर भी दी है। प्रिंस खालिद अल फैजल दोनों पवित्र मस्जिदों के संरक्षक के सलाहकार भी हैं. इन दोनों टैग हज एक्सपो 2023 के दौरान होने वाली हज और उमरा सर्विस कॉन्फ्रेंस के दौरान लॉन्च किया गया.

इस मौके पर सऊदी अरब में हज और उमरा विभाग के मंत्री डॉ. तौफ़ीक अल-राबिया ने कहा कि दुनियाभर में मुसलमानों के बीच मक्का और मदीना की एक खास जगह है. इस पहल से उन्हें एक खास अनुभव होगा. अब इन दोनों पवित्र शहरों के उत्पादों को भी ये खास तवज्जो हासिल होगी, जिन्हें दुनिया के अधिकतर मुसलमानों के बीच पसंद किया जाएगा.

सऊदी अरब का ये है बिज़नेस प्लान

सऊदी अरब के अनुसार अगर कोई प्रोडक्ट ‘मेड इन सऊदी’ के नाम से बाजार में आता है तो उसका कोई ख़ास असर नहीं होता क्योंकि ये और देशों के प्रोडक्ट की तरह ही महसूस होता है पर जब कोई प्रोडक्ट ‘मेड इन मक्का’ या ‘मेड इन मदीना’ के नाम से बाजार में आता है तो उससे मुसलमानो को धार्मिक जुड़ाव महसूस होगा और वो प्रोडक्ट मार्किट में छा जायेगा।

दुनिया के बाजार में बढ़ेगी सऊदी की धमक

इस पहल को लेकर सऊदी अरब के उद्योग और खनिज संसाधन मंत्री बांदर अल-खोरायेफ ने कहा कि इन टैग की लॉन्च से जहां मक्का और मदीना आने वाले यात्रियों के धार्मिक अनुभव बेहतर बनाएगा. वहीं दुनिया के कई बाजारों में सऊदी अरब के राष्ट्रीय उत्पादों की पहुंच भी बढ़ाएगा. इन दोनों शहरों से दुनियाभर के मुसलमानों की धार्मिक भावनाएं जुड़ी हैं.

उन्होंने कहा कि मंत्रालय की कोशिश हज और उमरा मंत्रालय के साथ मिलकर ‘मेड इन मक्का’ और ‘मेड इन मदीना’ उत्पादों को ‘मेड इन सऊदी’ उत्पादों के साथ ही आगे बढ़ाने की है. सऊदी अरब की एक्सपोर्ट डेवलपमेंट अथॉरिटी ने 2021 में ही ‘मेड इन सऊदी अरब’ की शुरुआत की थी.

Image Credit – Encyclopedia Britannica

इन्हे भी देखें – इंडिगो एयरलाइन और कोयंबटूर एयरपोर्ट ने रचा इतिहास, समयबद्ध एयरलाइन और हवाई अड्डे की सूची में दिखाया जलवा

इन्हे भी देखें – एलआईसी की इस LIC New Jeevan Shanti स्कीम में लगायें बस इतने रूपये और हर महीने मिलेंगे 11 हजार से ज्यादा की रकम

इन्हे भी देखें – सावधान रहे ये मिमिकरी करने वाला AI टूल बस 3 सेकंड में कॉपी कर लेता है किसी की भी आवाज, ऑनलाइन स्कैम बढ़ने का खतरा

इन्हे भी देखें – भारत की ओर से खेल चुकी फूटबाल पर अब Zomato की ओर से घरों पर डिलीवरी करती है खाना, राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भारत का प्रतिनिधित्व किया

इन्हे भी देखें – बाप रे! बीड़ी-सिगरेट के खोखे का हर महीने क‍िराया 3.25 लाख रुपये, ये वैल्यू है Commercial Property की इस लोकेशन पर

इन्हे भी देखें – Auto Sweep Facility : बस करना होगा इतना सा काम और मिलेगा सेविंग्स अकाउंट पर मिलेगा FD जितना ब्याज

इन्हे भी देखें – Drone Insurance : क्या Drone का भी गाड़ियों की तरह बीमा करना आवश्यक है ? क्या चीजें होती कवर में, बीमा करने वाली कौन सी कंपनी

Leave a Comment