Netflix का Password शेयर करने पर हो सकती है जेल, एक अकाउंट कई लोगों द्वारा इस्तेमाल करना हो सकता है महंगा

Netflix Rules Latest : अगर आप भी नेटफ्लिक्स या अन्य किसी OTT प्लेटफार्म का पासवर्ड दोस्तों के साथ शेयर करते हैं तो ये आर्टिकल आपके लिए ही है। इसमें आपको मालूम पड़ेगा कि इस साधारण सी आदत से आप कितनी मुश्किल में पड़ सकते हैं।

Netflix Paasword Sharing : भारत हो या दुनिया का को भी देश हो नेटफ्लिक्स हो या कोई अन्य ओटीटी प्लेटफार्म हो हर लोग आपस में पासवर्ड शेयर करते रहते हैं। ओटीटी प्लेटफार्म पर हर लगभग हर भाषा की मूवी या सीरियल देखने को मिल जाते हैं और दर्शकों को इन फिल्मों या सीरियल को देखने के लिए हर महीने अपने सब्सक्रिप्शन को रिचार्ज कराना पड़ता है।

अधिकतर दर्शक एक एक ओटीटी प्लेटफार्म को रिचार्ज करा लेते हैं और दुसरे ओटीटी प्लेटफार्म के प्रोग्राम को देखने के लिए पासवर्ड शेयर कर लेते हैं। ये नेटफ्लिक्स तथा अन्य ओटीटी प्लेटफार्म के लिए रेवेन्यू लॉस का एक बहुत बड़ा कारण है।

इसलिए इस तरह को कंपनियों ने सरकार के साथ मिलकर इसके लिए कानून बनाने की बात रिक्वेस्ट की। अब सरकार ने इसके लिए एक सख्त कदम उठाया है Netflix password sharing crackdown by latest rules इसमें यूजर को अपने अकाउंट का पासवर्ड शेयर करने पर आपको जेल तक हो सकती है। इसका मतलब है कि आप ने जिस डिवाइस या टीवी के लिए नेटफ्लीक्स कनेक्शन लिया है आपको उसी डिवाइस पर आप अपने प्रोग्राम देख सकते हैं। यह अपराध की श्रेणी में आएगा।

ओटीटी प्लेटफार्म पासवर्ड शेयरिंग के लिए क्या है नया नियम

नेटफ्लिक्स अकाउंट या कोई अन्य ओटीटी प्लेटफार्म के अकाउंट का पासवर्ड शेयर करना अब भूल जाइये क्योंकि ये अब पुराने ज़माने की बात हो गयी अब आपको इसके लिए सजा हो सकती कभी कभी तो जेल भी हो सकती है।

दरअसल किसी भी ओटीटी प्लेटफार्म का पासवर्ड शेयर करना अब धोखाधड़ी माना जायेगा और इसके लिए आपको फिर भारी-भरकम जुर्माना चुकाना पड़ सकता है या फिर जेल भी हो सकती है।

तो अगर आप अभी तक अपने नेटफ्लिक्स अकाउंट या कोई अन्य ओटीटी प्लेटफार्म का पासवर्ड दोस्तों के साथ शेयर करते थे तो अपनी इस आदत को जल्दी से जल्दी छोड़ दीजिये।

Netflix password sharing how do they know

नेटफ्लिक्स हेल्प-सेंटर के पेज के अनुसार जब आप नेटफ्लिक्स या कोई अन्य ओटीटी प्लेटफार्म में अकाउंट ओपन करते हैं तो उसी समय लॉग इन करते समय डिवाइस से आईपी पते, डिवाइस आईडी रिकॉर्ड हो जाता है और वही इस अकाउंट का ओनर हो जाता है। अब अगर यही अकाउंट किसी अन्य डिवाइस या टीवी पर खुलता है तो कंपनी को डिवाइस आईडी से पता चल जाता है।

इंटेलेक्चुअल प्रॉपर्टी राइट्स पर आधारित है ये कानून

पासवर्ड शेयरिंग पर इस तरह का कानून इंटेलेक्चुअल प्रॉपर्टी ऑफिस के द्वारा पायरेसी को लेकर एक नई गाइडलाइन के आधार पर बनाया गया है। इसमें यदि कोई व्यक्ति अपने अकाउंट का पासवर्ड शेयर करता है तो इसे कंपनी के इंटेलेक्चुअल प्रॉपर्टी राइट्स का उल्लंघन माना जायेगा। और इसके लिए जो भी सजा का प्रावधान कानून में पहले से किया गया उसी का वो भागी होगा। ध्यान देने की बात ये है कि यह कानून सिर्फ नेटफ्लिक्स या किसी अन्य ओटीटी प्लेटफार्म के लिए नहीं है बल्कि सभी ओटीटी प्लेटफार्म के लिए लागू होता है।

जल्द ही भारत में लागू हो सकता है ये कानून

हालंकि हमारे लिए अभी ये राहत है कि अभी ये नियम भारत में लागू नहीं हुआ अभी ये सिर्फ यूके में लागू किया गया है और इसके रिस्पांस पर ही इसे अन्य देशों में लागू किया जायेगा। तो वो दिन दूर नहीं जब यह कानून भारत में भी लागू हो जायेगा इसलिए अभी हमारे पास पासवर्ड शेयरिंग की आदत सुधारने का समय है।

इन्हे भी देखें – iNCOVACC – भारत बायोटेक ने बनाई दुनिया की पहली नेजल कोरोना वैक्सीन, सरकार से मिली मंजूरी, बूस्टर डोज के तौर पर प्राइवेट अस्पतालों में मिलेगी

इन्हे भी देखें – नये साल में गिरेंगे खाने के तेल के दाम भारत सरकार ने लिया एलान, मात्र 108 रुपये प्रति लीटर तक आया दाम

इन्हे भी देखें – IndusInd bank easy wheels से बैंक दे रहा है 1 लाख रुपये में Car, 20 हज़ार में Bike और Scooty, इंडस बैंक की ज़ब्त गाड़ियों की नीलामी

इन्हे भी देखें – Flipkart और Amazon से भी सस्ते में सामान खरीदना है तो जाइये इस सरकारी वेबसाइट पर, ग्राहकों की लगी लाइन

इन्हे भी देखें – ड्रोन स्टार्टअप ड्रोनआचार्य एरियल इनोवेशन के IPO में 10 दिन में पैसा डबल : 54 रु. का शेयर 107 रु पर, ड्रोन का अब बहुत होगा इस्तेमाल

इन्हे भी देखें – Kinetic Luna EV Launch : काइनेटिक लूना 50 साल बाद इलेक्ट्रिक अवतार में हुई लांच

इन्हे भी देखें – 5 बड़े नियम नियम बदल रहे हैं 1 जनवरी से जिसमें गाड़ी, बैंक, FD, लॉकर से लेकर GST तक शामिल

Leave a Comment