PM ने किया गोवा के मोपा में किया इंटरनेशनल एयरपोर्ट का उद्घाटन :35 डोमेस्टिक और 18 इंटरनेशनल फ्लाइट्स, एयरपोर्ट दिवंगत मनोहर पर्रिकर के नाम

PM ने किया Mopa International Airport Inauguration और इसमें 35 डोमेस्टिक और 18 इंटरनेशनल फ्लाइट्स, मोपा एयरपोर्ट का नाम दिवंगत मनोहर पर्रिकर के नाम पर

Mopa International Airport Inauguration by PM | गोवा के मोपा में किया इंटरनेशनल एयरपोर्ट का उद्घाटन

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस रविवार को डाबोलिम के बाद यह गोवा का दूसरा इंटरनेशनल एयरपोर्ट मोपा में इंटरनेशनल एयरपोर्ट का उद्घाटन किया। है।

इस एयरपोर्ट की PM मोदी ने नवंबर 2016 में खुद इसकी आधारशिला रखी थी। और ये एयरपोर्ट राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री और मोदी सरकार में रक्षा मंत्री रहे दिवंगत मनोहर पर्रिकर के नाम पर होगा।

इस एयरपोर्ट की लागत करीब 2 हजार 870 करोड़ रुपए होगी और हर साल करीब 40 लाख पैसेंजर्स के आने की उम्मीद है। बाद में इसे हर साल 3 करोड़ पैसेंजर्स तक ले जाने का प्लान है।

इससे पहले के डाबोलिम एयरपोर्ट से अभी 15 डोमेस्टिक और 6 इंटरनेशनल लोकेशन्स के लिए कनेक्टिविटी है, जबकि मोपा एयरपोर्ट के जरिए 35 डोमेस्टिक और 18 इंटरनेशनल लोकेशन्स तक पहुंचा जा सकेगा।

मनोहर इंटरनेशनल एयरपोर्ट की खासियत यह है कि यह गोवा की राजधानी पणजी से सिर्फ 35 किलोमीटर की दूरी पर है।

और इसे मार्च 2000 में केंद्र सरकार ने मोपा गांव में एक ग्रीनफील्ड एयरपोर्ट बनाने के लिए राज्य सरकार को अनुमति के बाद बनाया गया है।

और यहां पर दुनिया के सबसे बड़े विमानों को संभालने वाला रनवे भी बनाया गया है। इस एयरपोर्ट पर सोलर पॉवर प्लांट लगाए गए हैं।

इसी के साथ ग्रीन बिल्डिंग्स, LED लाइटें, रीसाइक्लिंग जैसी कई सुविधाओं के साथ इसे तैयार किया गया है। यह एयरपोर्ट डाबोलिम एयरपोर्ट की तुलना में बेहतर सुविधाओं से लैस है।

डाबोलिम एयरपोर्ट पर रात में पार्किंग की सुविधा नहीं थी। जबकि मोपा हवाई अड्डे पर यह सुविधा है। डाबोलिम में कोई कार्गो टर्मिनल नहीं था, पर मोपा में 25 हजार मीट्रिक टन की क्षमता वाली कार्गो सुविधा होगी।

स्वर्गीय मनोहर पर्रिकर के नाम पर होगा मोपा हवाई अड्डा

मोपा एयरपोर्ट के उद्धाटन के बाद PM मोदी ने कहा कि मुझे इस बात की खुशी है कि इस इंटरनेशनल एयरपोर्ट का नाम मेरे प्रिय सहयोगी और गोवा के लाडले, स्वर्गीय मनोहर पर्रिकर के नाम पर रखा गया है।

इसलिए मोपा एयरपोर्ट का नाम अब मनोहर इंटरनेशनल एयरपोर्ट होगा। बता दें कि पर्रिकर मोदी सरकार में रक्षा मंत्री भी रह चुके हैं। कैंसर की वजह से उनका देहांत हो गया था।

दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा एविएशन मार्केट बनने वाला है भारत

मोदी सरकार ने एयरपोर्ट नेटवर्क का विस्तार किया और उड़ान योजना के जरिए आम लोगों को भी हवाई जहाज में उड़ने का अवसर दिया। इसके कारण भारत आज दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा एविएशन मार्केट बन गया है।

और इस समय देश में करीब 140 से ज्यादा एयरपोर्ट हैं। सरकार की योजना अगले 5 सालों में 220 हवाई अड्डों को विकसित करने की है।

मोपा एयरपोर्ट की ख़ास बातें

मोपा एयरपोर्ट में नाइट पार्किंग करने की सुविधा मिलेगी, जो अभी तक डाबोलिम हवाईअड्डे पर भी उपलब्ध नहीं थी ।

इस एयरपोर्ट को बेसिक इन्फ्रास्ट्रक्चर की थीम पर तैयार किया गया है।

इस एयरपोर्ट को करीब 2,870 करोड़ रुपए की लागत से बनाया गया है। और यहां यात्रियों की सुविधा का विशेष ध्यान रखा गया है।

मोपा हवाईअड्डे में 25,000 मीट्रिक टन की हैंडलिंग क्षमता वाली कार्गो सुविधा होगी।

मोपा एयरपोर्ट से 35 डोमेस्टिक और 18 इंटरनेशनल लोकेशन्स तक की उड़ान चलेंगी।

मोदी सरकार का डेवलपमेंट पर ज्यादा जोर

पीएम मोदी जिस तरह से इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट में तेजी ला रहे हैं ये सब उसी का परिणाम है। इससे पहले मोदी जी ने पणजी में 9वीं वर्ल्ड आयुर्वेद कांग्रेस के समापन समारोह में AIIMS के आयुष अस्पताल का उद्घाटन किया और फिर उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ यूनानी मेडिसिन और दिल्ली के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ होम्योपैथी का वर्चुअल उद्घाटन किया।

आज 30 से ज्यादा देशों ने आयुर्वेद को मान्यता दी है। आयुष उद्योग पिछले 8 वर्षों में सात गुना बढ़कर 20,000 करोड़ रुपए से 1.4 लाख करोड़ रुपए हो गया।

इसी कड़ी में PM ने करीब करीब 2 हजार 870 करोड़ रुपए की लागत के Mopa International Airport Inauguration किया और इसमें 35 डोमेस्टिक और 18 इंटरनेशनल फ्लाइट्स चलेंगी और इस मोपा एयरपोर्ट का नाम दिवंगत मनोहर पर्रिकर के नाम पर करने की घोषणा की।

Leave a Comment