अगर आपको भी Smartphone में Google Search करने की है आदत तो, अब इस साइट से जाकर पा सकते हैं अपने सवालों के जवाब

अगर आप भी अभी तक अपने सवालों के जवाब के लिए सिर्फ Google Search पर निर्भर करते हैं तो आप अभी भी पिछले ज़माने में ही हैं तो अब आप भी इस समय के ट्रेंडिंग सॉफ्टवेयर ChatGPT AI Tool पर सर्च कर सकते हैं और अपनी सर्च के रिजल्ट में जमीन और आसमान का अंतर आप खुद महसूस कर सकते हैं।

दोस्तों अगर आपके भी हर बात को गूगल पर सर्च करने की आदत है तो आप अभी इस आदत को बदल डाली है क्योंकि मार्केट में गूगल को टक्कर देने के लिए ऐसा AI Tool आ गया है जिससे लोग गूगल का इस्तेमाल कम करने लगे हैं और इस टूल का नाम है ChatGPT जो एक मार्केट का लेटेस्ट ट्रेंड बन गया लोग दनादन इसका इस्तेमाल कर रहे हैं गूगल में क्या होता है कि गूगल में जवाब कोई चीज सर्च करते हैं तो उसके वह 8 से 10 जवाब आपको देता है जिसमें से कुछ ही आपके काम के होते हैं कुछ काम के नहीं होते हैं लेकिन चैट जीपीटी में आपके सवाल के सीधे-सीधे आंसर दिए जाते हैं जैसे कि किसी इंसान ने आंसर दिया है हो ना कि एक मशीन की तरह रिस्पांस करता है जिससे इसका रिस्पांस लोगों को बहुत ही पसंद आ रहा है।

आखिर क्या है ये ChatGPT ?

अब कोई अगर आपसे ही पूछता है कि क्या ChatGPT असल में एक ट्रेन सॉफ्टवेयर टूल है या AI Tool है इसका इस्तेमाल करके लोग अपने सवाल के जवाब पा सकते हैं अभी तक गूगल में आपको सिर्फ साइट की लिस्टिंग नजर आती थी लेकिन इस टूल से आपको सीधे सीधे सवाल के जवाब मिलते हैं जिससे आपको और साइट पर जाकर अपने सवालों के जवाब खोजने में टाइम नहीं खर्च करना पड़ता है और इस वजह से यह 2 लोगों को बहुत पसंद आ रहा है साथ ही इसके AI Tool में सवालों के जवाब इस तरह दिये जाते हैं कि जैसे आपको लगता ही नहीं है कि यह मशीन का जवाब है बल्कि ऐसा लगता है जैसे दूसरे एंड पर बैठा कोई व्यक्ति आपको आपके सवालों के जवाब दे रहा है।

माइक्रोसॉफ्ट भी इस्तेमाल कर सकता है ChatGPT का

अभी तक की जानकारी के अनुसार ओपन एआई के चैट जीपीटी का इस्तेमाल करके माइक्रोसॉफ्ट अपने बैंक के सर्च इंजन का नया वर्जन लेकर आ सकता है लेकिन यह कब होगा और इसमें उसको कितनी सफलता मिलेगी यह तो तभी मालूम चलेगा जब का नया सर्च वर्जन मार्केट में लांच होगा।

बहुत सारी नौकरियों के लिए खतरा है ये ChatGPT

यह सॉफ्टवेयर चैट जीपीटी सॉफ्टवेयर बहुत सारी नौकरियों के लिए खतरा साबित भी हो सकता है दरअसल यह सॉफ्टवेयर इंसानों की भाषा कुछ इस कदर समझता है और उसका जवाब कुछ कुछ ऐसे देता है कि यह कॉल सेंटर में कार्य करने वाले लोगों के लिए कंटेंट राइटिंग और आर्टिकल राइटिंग करने वालों के लिए खतरा साबित हो सकता है।

Image Source – Medium

इन्हे भी देखें – एयरटेल-जियो को टक्कर देगी BSNL:सरकारी टेलीकॉम कंपनी BSNL अप्रैल 2024 तक लॉन्च करेगी 5G सर्विस

इन्हे भी देखें – इस एक रूपये शेयर ने 5,100 फीसदी का रिटर्न देकर एक साल में बना दिया 52 लाख रुपये का ​मालिक, Penny Stock में निवेश

इन्हे भी देखें – रेहड़ी-पटरी वालों के लिए बड़ी खबर: 2023 में स्ट्रीट वेंडर्स को 3000 से 5000 लोन देगी सरकार, माइक्रो क्रेडिट फैसिलिटी, PM स्वनिधि योजना

इन्हे भी देखें – मारुति ईको कारों के साइलेंसर को चोरी कर लखपति बने चोरों को पुलिस ने धर दबोचा, जाने क्या है पूरा मामला

इन्हे भी देखें – Aadhaar Card खो जाने पर दुबारा से आधार कार्ड के नंबर और इनरोलमेंट आईडी मिनटों में ऐसे पायें, जाने इसका पूरा प्रोसेस

इन्हे भी देखें – Honda Cars के पुराना स्टॉक का ऑफर से बड़े डिस्काउंट में खरीदें City, Amaze, WRV, MRP पर 72000 रुपये तक की छूट

इन्हे भी देखें – LML Star electric scooter इलेक्ट्रिक व्हीकल बाजार में कल से धमाका करने जा रहा है, टॉप स्पीड 100 kph, फुल चार्ज में 120Km तक चलेगा

Leave a Comment